श्रीकृष्ण जन्माष्टमी 2023: जन्माष्टमी कब है, जानें मुहूर्त और तिथि

हिन्दू धार्मिक मान्यता के अनुसार भगवान श्री कृष्ण का जन्म भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि की रात्रि में रोहिणी नक्षत्र में हुआ था। इसलिए जन्माष्टमी त्योहार का पर्व हर साल भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दिन मनाया जाता है।

6 या 7 सितंबर कब है जन्माष्टमी का शुभ मुहूर्त?

इस वर्ष 2023 में जन्माष्टमी का पर्व 6 और 7 दोनों तिथियों को मनाया जाएगा क्योंकि अष्टमी तिथि बुधवार 6 सितंबर 2023 को दोपहर 03:37 से शुरू होकर अगले दिन 7 सितंबर को शाम 4 बजकर 14 मिनट पर समाप्त हो जाएगी। जन्माष्टमी का व्रत 6 सितंबर को रखा जाएगा।

इस वर्ष 2023 में रोहिणी नक्षत्र 6 सितंबर को सुबह 9 बजकर 20 मिनट पर लग जाएगा और 7 सितंबर को सुबह 10:25 तक रहेगा। इसलिए इस वर्ष 6 सितंबर की रात्रि में ही श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया जाएगा और 6 सितंबर के दिन में ही जन्माष्टमी का व्रत भी रखा जाएगा।

भाद्रपद अष्टमी कृष्ण पक्ष (कृष्ण जन्माष्टमी)

अष्टमी तिथि प्रारम्भ – सितम्बर 06, 2023 को शाम 03:37 बजे                                                                                    अष्टमी तिथि समाप्त – सितम्बर 07, 2023 को शाम 04:14  बजे

रोहिणी नक्षत्र प्रारम्भ – सितम्बर 06, 2023 को प्रातः 09:20 बजे                                                                               रोहिणी नक्षत्र समाप्त – सितम्बर 07, 2023 को प्रातः 10:25 बजे

जन्माष्टमी व्रत का पारण अगला सूर्योदय होने पर अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र समाप्त होने पर ही किया जाता है। इस वर्ष 2023 में भगवान श्रीकृष्ण का 5250वां जन्मदिवस है।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.