You are currently viewing Immunity in hindi| इम्युनिटी इन हिंदी
Immunity in hindi| इम्युनिटी इन हिंदी

Immunity in hindi| इम्युनिटी इन हिंदी

Immunity in hindi| इम्युनिटी इन हिंदी- का अभिप्राय शरीर में अंतर्निहित प्रतिरक्षा प्रणाली से है | दुनिया की आबादी तेजी से बढ़ रही है और लोग लंबे समय तक जी रहे हैं, लेकिन हमारे रहने का माहौल काफी बदल गया है। इसलिए हमारे जीवन के हर पहलू में, हमे अपने स्वास्थ्य मे और मुख्य रूप से हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार करने की आवश्यकता है। कई महामारियों कों समय-समय पर आते हुए देखकर प्रतिरक्षा के बारे में ये चिंताएं अधिक महत्वपूर्ण हो गई हैं, जैसे कि- SARS, MERS और अब कोरोनोवायरस (covid -19) महामारी, जिससे कुछ ही महीनों में दुनिया भर में तीन मिलियन से अधिक लोग संक्रमित हो चुके है।

 Immunity in hindi| इम्युनिटी इन हिंदी

जब तक आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली(Immunity system) अच्छी तरह से चल रही है, तब तक आपका इस पर ध्यान नहीं जाता हैं | लेकिन अगर यह ठीक से काम करना बंद कर दे ,या कमजोर हो जाय, या विशेष रूप से आक्रामक कीटाणुओं से नहीं लड़ सकती है – तो आप बीमार हो जाते हैं। प्रतिरक्षक होना वह स्थिति है जिसमे आपका इम्यून सिस्टम विशेष रूप से एक रोग पैदा करने वालें कीटाणु के विकास को रोकता है | साथ ही अनेक प्रकार की बीमारियों से हमारी रक्षा करता है ।

इम्युनिटी इन हिंदी- प्रकार

Immunity in hindi| इम्युनिटी इन हिंदी के सन्दर्भ में प्रतिरक्षा प्रकार को जानना भी महत्वपूर्ण है | प्रतिरक्षा प्रणाली के बिना, हमारे शरीर के अंदर होने वाले परिवर्तनों या हानिकारक बाहरी चीजों या जीवो से लड़ने का हमारे पास कोई तरीका नहीं होगा। शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली के मुख्य कार्य हैं -बैक्टीरिया, वायरस, पेरासाइट या फंगाई जैसे रोग पैदा करने वाले कीटाणुओं (रोगजनकों) से लड़ना, पर्यावरण से हानिकारक पदार्थों को पहचानना और बेअसर करना और शरीर में रोग पैदा करने वाले परिवर्तनों से लड़ना। इम्युनिटी अथवा प्रतिरक्षा मुख्यतः-मुख्यतः दो प्रकार होते हैं |

 Immunity in hindi| इम्युनिटी इन हिंदी


सक्रिय प्रतिरक्षा (active immunity) : यह तब होता है जब हमारी खुद की प्रतिरक्षा प्रणाली हमें एक रोगजनक कीटाणु से बचाने का कार्य करती है।

निष्क्रिय प्रतिरक्षा (passive immunity) : यह तब होती है जब हम किसी और से ली गई प्रतिरक्षा की सहायता से एक रोगज़नक़ कीटाणु से सुरक्षित होते हैं।

इम्युनिटी इन हिंदी- लक्षण

Immunity in hindi| इम्युनिटी इन हिंदी के सन्दर्भ में प्रतिरक्षा के लक्षणों के बारे में जानकारी अपरिहार्य है | सामान्य रूप से शरीर में कुछ लक्षण प्रदर्शित होते है जो इशारा करते है की आपकी प्रतिरक्षा कुछ कमज़ोर हो गई है |

1) आपका तनाव स्तर बढ़ जाता है : यह एक संयोग नहीं है कि आप काम पर एक बड़े प्रोजेक्ट के बाद या घर पर एक भावनात्मक स्थिति होने के कारण बीमार हो जाते हैं।

 Immunity in hindi| इम्युनिटी इन हिंदी


2) आपको अक्सर सर्दी -जुक़ाम रहता है


3) आपको बहुत पेट सम्बंधित रोग हमेशा रहता है | यदि आपको लगातार डायरिया, गैस या कब्ज है, तो यह संकेत हो सकता है कि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली से समझौता किया गया है।
4) आपके घाव भरने मे काफ़ी समय लगता है।
5) आपको बार-बार संक्रमण होता है | यदि आपको बार-बार संक्रमण होता है, तो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली आपको खतरे का संकेत दे रही है।
6) आप हर समय थकान एवं ऊर्जाहीनता महसूस होती हैं

इम्युनिटी इन हिंदी- इम्युनिटी कैसे बढाये

इम्युनिटी के परिप्रेक्ष्य में हाउ तो इनक्रीस इम्युनिटी (how to increase immunity) अत्यंत महत्वपूर्ण है | लेकिन चिंता की कोई बात नहीं है , यदि आप कुछ छोटी -छोटी बातों का ध्यान रखे तो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली में प्रभावी रूप से सुधार आता है |

1) सिट्रस फल खाए : सिट्रस फल खाने से हमें विटामिन सी मिलता है जो की सफेद रक्त कोशिकाओं की उत्पति को बढ़ाता है और हमें संक्रमण से लड़ने मे सहायता करता है। लोकप्रिय सिट्रस फलों में शामिल हैं: अंगूर, संतरा, नींबू आदि।

 Immunity in hindi| इम्युनिटी इन हिंदी


2) पर्याप्त नींद ले : नींद और हमारी प्रतिरक्षा सीधे रूप से सम्बंधित हैं। वास्तव में, कम या खराब नींद लेने से बीमार होने का खतरा बढ़ जाता है ।


3) अधिक स्वस्थ फैट्स खाएं: ओलिव आयल और सालमन में पाए जाने वाले स्वस्थ फैट्स, सूजन को कम करके, रोग करने वाले जीवो के खिलाफ आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को बढ़ा सकते हैं।

4)कम शक्कर खाए : एक शोध से पता चलता है कि ज़्यादा शक्कर अधिक वजन और मोटापे के लिए जिम्मेदार होती हैं और मोटापा कई तरह की बीमारियों का कारण होता है।


5) मध्यम व्यायाम करें : हालांकि लंबे समय तक तेजी से व्यायाम करने से आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कम हो सकती है, लेकिन मध्यम व्यायाम इसे बढ़ाने मे आपकी सहायता कर सकता है।

 Immunity in hindi| इम्युनिटी इन हिंदी

6)हाइड्रेटेड रहें: हाइड्रेशन आपको कीटाणुओं और वायरस से बचाने के लिए जरूरी नहीं है, लेकिन निर्जलीकरण (डीहाइड्रेशन) को रोकना आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है।


7) अपने तनाव का प्रबंधन करें : तनाव और चिंता कम होने से आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली और बेहतर तरीके से काम करती है। लम्बे समय तक तनाव सूजन को बढ़ावा देता है, साथ ही प्रतिरक्षा सेल के कार्यों में भी असंतुलन लाता है।

Herd immunity in hindi| हर्ड इम्युनिटी इन हिंदी

हर्ड इम्युनिटी से अभिप्राय मनुष्यों की सामूहिक इम्युनिटी अथवा प्रतिरक्षा क्षमता से है | हर्ड इम्युनिटी covid -19 के बाद एक प्रमुख संकल्पना के रूप में लोकप्रिय हुयी है | चिकित्सा जगत का मानना है कि मनुष्य के उद्भव और विकास की प्रक्रिया में अपने अस्तित्व को बनाये रखा है | रोग वाहक बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने वाले अनिवार्य इम्युनिटी का निर्माण मनुष्य के शरीर के अंदर होता रहता है |

सभी मनुष्य की जैविक प्रणाली एक सी है | सभी की इम्युनिटी को सामूहिक रूप में हर्ड इम्युनिटी के तौर पर जाना जाता है जो वातावरण में मौजूद ख़तरनाक जीवाणुओं से लड़ने में सक्षम है | covid -19 के वायरस को हराने में भी नयी शोध के अनुसार हर्ड इम्युनिटी की प्रभावकारी भूमिका होगी | प्रत्येक मनुष्य अपनी व्यक्तिगत इम्युनिटी को बढाकर सामूहिक हर्ड इम्युनिटी में बेहतर योगदान दे सकता है |

herd immunity
herd immunity

आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली अच्छे स्वास्थ्य की कुंजी है | इसलिए जितना अधिक आप इसे समृद्ध कर सकते हैं, उतना बेहतर होगा। जब आप अच्छे विचार सोचते हैं, तो आपके शरीर की सुरक्षा भी बेहतर होती है। प्रतिरक्षा प्रणाली, लगातार विकसित होते कीटाणुओं या विषाणुओं के एक समूह से हमारी रक्षा करने के लिए विकसित हुई है। रोगजनक रोगाणुओं (माइक्रोब्स) के पास एक ऐसा मैकेनिज्म होता है जिसके द्वारा उनकी संख्या लगातार बढ़ती है और वे हमारे शरीर के लिए खतरा बन जाते है। प्रतिरक्षा प्रणाली इन माइक्रोब्स और विषाक्त या एलर्जीनिक प्रोटीन को खत्म करने में सक्षम होती है तथा हमारे शरीर की रक्षा करती है |

courtesy: google images

Leave a Reply