सम्यक समाधि

भारतीय आध्यात्मिक प्रक्रिया में सम्यक समाधि अत्यंत विशिष्ट महत्त्व रखता है | सामान्य रूप में समाधि का तात्पर्य ध्यान की उच्चतम अवस्था से लगाया गया है | सम्यक समाधि को…

Continue Readingसम्यक समाधि

सम्यक माइंड- फुलनेस

सम्यक माइंड- फुलनेस को पाली भाषा में 'सम्मासति' जबकि संस्कृत में 'सम्यक स्मृति' के रूप में जाना जाता है | सम्यक माइंड- फुलनेस का तात्पर्य वर्तमान के इस क्षण में…

Continue Readingसम्यक माइंड- फुलनेस

सम्यक प्रयास

मनुष्य कर्म किये बिना एक क्षण भी नहीं रह सकता है | जीवन निर्वाह की यथेष्ट इच्छा उससे कर्म करने को विवश किये रहती है | किसी भी कर्म को…

Continue Readingसम्यक प्रयास

सम्यक आचरण

सम्यक आचरण , सही प्रकार से किया जाने वाला कर्म है | सम्यक आचरण संस्कृत में 'सम्यक कर्मान्त' एवं पाली भाषा में 'सम्यक कम्मन्तो' के रूप में उल्लेखित है |…

Continue Readingसम्यक आचरण

कौन सा काम करें ?

मनुष्य को अपने जीवन- निर्वहन के कोई न कोई आजीविका का चयन  अथवा काम करना ही होता है | मनुष्य के ऊपर उसके परिवार के भरण -पोषण की भी महत्वपूर्ण…

Continue Readingकौन सा काम करें ?

कैसे बोलना चाहिए !

सम्यक्‌ वचन को पालि भाषा में मूलतः सम्यक वाक् के रूप में जाना जाता है | सम्यक्‌ वाक्  का  तात्पर्य है की बात करने या बोलने का सही तरीका क्या…

Continue Readingकैसे बोलना चाहिए !